छत्तीसगढ़ कोल घोटाला: जानें कौन हैं कांग्रेस के दो विधायक जिन्हें ED ने बनाया आरोपी?

ChhattisgarhTak

ADVERTISEMENT

ChhattisgarhTak
social share
google news

Chhattisgarh Coal Scam- छत्तीसगढ़ में कथित कोयला लेवी घोटाले से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शुक्रवार को अपनी दूसरी पूरक अभियोजन शिकायत (ED’s Chargesheet in coal scam) दायर की, जिसमें सत्तारूढ़ कांग्रेस (Chhattisgarh Congress) के दो विधायकों और एक आईएएस अधिकारी को आरोपी के रूप में नामजद किया गया है.

कथित कोल घोटाला केस की चार्जशीट में 2 कांग्रेस के विधायकों देवेंद्र यादव (भिलाई नगर सीट) और चंद्रदेव राय (बिलाईगढ़ सीट) को आरोपी बनाया गया है. साथ ही रायपुर की अदालत में आईएएस अधिकारी रानू साहू साहू (2010 बैच की छत्तीसगढ़-कैडर की आईएएस अधिकारी) के खिलाफ चार्जशीट पेश की गई. 280 पेज की शिकायत के साथ ही 5456 पेज के दस्तावेज अदालत में जमा किए गए हैं. जिसमें कुल 11 लोगों को आरोपी बनाया गया है.

ED का दावा- कोल मामले में हुई है वसूली

ईडी ने आरोप लगाय है कि अधिकारियों और नेताओं ने मिलकर वसूली कीहै. इसके अलावा शुक्रवार को ही बिलासपुर हाईकोर्ट में भी सुनवाई हुई, जहां ED ने कोल मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग रखी है. ईडी ने सीबीआई जांच की मांग को लेकर पिटिशन दायर की है. इस पिटिशन पर सप्ताह भर बाद सुनवाई होने की उम्मीद है. इसके पहले पिछले सप्ताह ED ने शराब घोटाला मामले में सीबीआई जांच की मांग की थी.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

11 लोगों को बनाया आरोपी

रायपुर अदालत में ईडी ने निलंबित आईएएस अफसर रानू साहू के खिलाफ शुक्रवार को विशेष न्यायाधीश अजय सिंह राजपूत की अदालत में चार्जशीट पेश की. ईडी के अधिवक्ता डॉ सौरभ पांडे ने बताया कि प्रोसिक्यूशन कम्प्लेंट में निलंबित IAS रानू के अलावा कुल 11 लोगो को आरोपी बनाया गया है जिसमें भिलाई विधायक देवेंद्र यादव और बिलाइगढ़ विधायक चंद्रदेवराय को भी आरोपी बनाया गया है.

ये हैं 11 आरोपी

चार्जशीट में रानू साहू, निखिल चंद्राकर के अलावा विनोद तिवारी,देवेंद्र यादव, चंद्रदेव राय, आरपी सिंह, रोशन सिंह, पीयूष साहू, नवनीत तिवारी, मनीष उपाध्याय, नारायण साहू आरोपी बनाए गए हैं. नारायण साहू और पीयूष साहू दोनों ही सूर्यकांत तिवारी के स्टाफ हैं. रानू साहू और निखिल चंद्राकर के अलावा एक को भी गिरफ्तार नहीं किया गया है. खबर है कि इन्हें पकड़ा जा सकता है हालांकि इन आरोपियों के वकीलों ने जमानत हासिल करने की कोशिश शुरू कर दी है.

ADVERTISEMENT

इसे भी पढें- कोयला घोटाला में अदालत ने पूर्व सांसद विजय दर्डा, उनके बेटे को सुनाई चार साल की सजा

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT