जगदलपुर: भाजपा पार्षद का अनोखा प्रदर्शन, निगम दफ्तर की सीढ़ियों में धोया कपड़ा, जानें क्या थी वजह

धर्मेन्द्र महापात्र

ADVERTISEMENT

ChhattisgarhTak
social share
google news

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ में इन दिनों हड़ताल और विरोध प्रदर्शन का दौर चल रहा है. वहीं प्रदर्शनों में भी कई तरह के प्रयोग देखने को मिल रहे हैं. राजधानी रायपुर में जहां आंदोलनरत संविदा कर्मचारियों (Samvida karmchari) ने घुटनों के बल चलकर सरकार के सामने अपनी मांगें रखी, वहीं अब जगदलपुर (Jagdalpur News)  में एक पार्षद और वार्डवासियों ने भी अनोखा प्रदर्शन किया है.

सामान्य सभा के बीच वार्डवासियों के साथ पहुंचे भाजपा पार्षद धनसिंग ने निगम भवन की सीढ़ियों में ही कपड़ा धोना शुरु कर दिया. दरअसल, अपने वार्ड में पानी और सफाई की गंभीर समस्या को लेकर वे कई बार शिकायत कर चुके हैं. जगदलपुर (Jagdalpur News) के  जवाहर नगर वार्ड में 6 महीने से पानी की समस्या से भी वार्डवासी जूझ रहें हैं. लेकिन समस्याओं का निराकरण नहीं होने पर उन्होंने विरोध का अनोखा तरीका अपनाया. पार्षद ने वार्ड के लोगो के साथ निगम दफ्तर की सीढ़ियों पर ही कपड़ा धोना शुरु कर दिया.यह प्रदर्शन काफी देर तक चलता रहा.

वहीं समस्या जल्द दूर नही करने पर पार्षद और वार्डवासियों ने चक्काजाम करने की भी चेतावनी दी है. आक्रोशित वार्डवासियों ने लिखित में निगम आयुक्त को ज्ञापन भी सौंपा है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

घुटनों के बल पर चले थे संविदाकर्मी

राजधानी रायपुर में भी पिछले दिनों अनोखा विरोध प्रदर्शन का नजारा दिखा था, जब घुटनों के बल चलकर और दंडवत प्रणाम कर संविदाकर्मी (Samvida karmchari) सरकार से अपनी मांगो को मानने की अपील कर रहे थे. प्रदर्शनकारियों का कहना था कि सरकार के नियमितिकरण वादे पौने पांच साल में पूरे नहीं होने और लंबी हड़ताल के बावजूद मांग पूरी नहीं किए जाने से वे संवाद रैली के माध्यम से सरकार को संवाद करने की अपील कर रहे हैं. इस दौरान कर्मचारी घुटनों के बल और दंडवत प्रणाम करके मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से नियमितिकरण के वादे को पूरा करने की गुहार लगाते नजर आए.

खून से लिखा खत

इससे पहले संविदा कर्मचारी (Samvida karmchari) खून से खत लिखकर भी अपने नियमितीकरण की मांग को प्रशासन के सामने रखे थे. नवा रायपुर के तूता स्थित धरना स्थल में खून से ज्ञापन लिखकर कर्मचारियों ने विरोध जताया था. खून से ये ज्ञापन कांग्रेस नेता राहुल गांधी के लिए लिखा गया था.

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT