Vishwa Adivasi Diwas 2023: नक्सलियों को लेकर सीएम बघेल ने दिया बड़ा बयान, भाजपा पर साधा निशाना

धर्मेन्द्र महापात्र

ADVERTISEMENT

ChhattisgarhTak
social share
google news

World Tribal Day- आदिवासी बाहुल्य छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में विश्व आदिवासी दिवस (Vishwa Adivasi Diwas 2023) बुधवार को उत्साह के साथ मनाया जा रहा है. वहीं इससे पहले जगदलपुर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने आदिवासियों और नक्सलियों को लेकर बड़ा बयान दिया है. सीएम बघेल ने कहा कि अगर 2023 में फिर से कांग्रेस की सरकार बनती है तो नक्सली (Naxalites) और पीछे हटने मजबूर हो जाएंगे और इनकी संख्या गिनती की ही रह जाएगी. साथ ही सीएम ने कहा, “कांग्रेस की सरकार आने के बाद हमने आदिवासी (Tribals) और नक्सली में फर्क को समझा.” इसे लेकर उन्होंने पूर्ववर्ती रमन सरकार को भी निशाने पर लिया.

बघेल ने कहा कि खुद को कमजोर होते देख नक्सलियों ने अब लड़ाई का तरीका भी बदल दिया है.उनका संगठन काफी कमजोर हुआ है.दलपत सागर के सामने मिलेट्स कैफ़े के उद्घाटन पर पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि पहले आदिवासियों के साथ ज्यादती हो रही थी बेगुनाह आदिवासियों को जेलों में ठूसा जाता था.हमने उन्हें रिहा कराया.कांग्रेस की सरकार आने के बाद आदिवासी और नक्सली में फर्क को समझा गया.

सीएम ने कहा कि राज्य सरकार की योजनाओं का जमीनी स्तर पर बेहतर क्रियान्वयन हुआ,जिसकी वजह से ट्राइबल का विश्वास बढ़ा और उन्होंने नक्सलवाद से तौबा कर ली.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

‘नगरनार इस्पात संयंत्र का ना हो निजीकरण’

नगरनार इस्पात संयंत्र के डिसइन्वेस्टमेंट को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने अपनी भावना से केंद्र सरकार को अवगत करा दिया है.छत्तीसगढ़ और बस्तर के लोगों की अपेक्षा है कि नगरनार इस्पात संयंत्र का निजीकरण करने की बजाय किसी सरकारी कंपनी को ही संचालन करने के लिए दिया जाए. अब केंद्र इस पर क्या निर्णय लेती है यह आने वाले समय में ही पता चलेगा.

‘किसानों की आय बढ़ी’

मुख्यमंत्री ने इस दौरान मिलेट्स के बारे में भी बताया. उन्होंने कहा, “कोदो,कुटकी रागी जैसे मिलेट्स को हमने बढ़ावा दिया है.इन दो सालों हमने मिलेट्स को करीब डेढ़ लाख हेक्टियर बढ़ा है. किसानों की आय भी बढ़ी है.”

ADVERTISEMENT

बस्तर को सौगात

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने बस्तर प्रवास के दौरान विश्व आदिवासी दिवस 9 अगस्त के अवसर पर जिले वासियों को 637 करोड़ 03 लाख से अधिक लागत के 2 हजार 300 विकास कार्यों की सौगात देंगे. जिसमें 486 करोड़ 70 लाख 76 हजार रुपये लागत के 1838 कार्यों का भूमिपूजन और 150 करोड़ 32 लाख रुपए लागत के 462 कार्यों का लोकार्पण करेंगे. इस दौरान मुख्यमंत्री ने 8 अगस्त को महारानी अस्पताल में निर्मित अंबक नेत्र चिकित्सालय और दलपत सागर के समीप सेहत बाजार (मिलेट्स कैफ) का भी लोकार्पण किया. जबकि 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस पर पीजी कालेज ग्राउंड में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होकर जिले के विकास कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास करेंगे. साथ ही विभिन्न विभागों के स्टालों का निरीक्षण और हितग्राही मूलक सामग्रियों का वितरण करेंगे.इसके उपरांत मुख्य कार्यक्रम में शामिल होंगे.मुख्यमंत्री के प्रवास को  देखते हुए सभी तैयारियां कर ली गईं  है.सुरक्षा के तगड़े इंतजाम किये  गये है.

ADVERTISEMENT

इसे भी देखें- आदिवासी नेता के विवादित बोल,’बीजेपी के लोग आएं तो काट डालो’

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT