छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: बसपा ने 17 उम्मीदवारों का किया ऐलान, जानें किसे कहां से मिला टिकट

ChhattisgarhTak

ADVERTISEMENT

ChhattisgarhTak
social share
google news

Chhattisgarh assembly Elections 2023- छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के लिए बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने मंगलवार को 17 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी की है.  इस ऐलान के बाद मायावती के नेतृत्व वाली पार्टी की ओर से घोषित किए गए प्रत्याशियों की संख्या 26 हो गई है. प्रदेश में 90 सीटों के लिए 7 और 17 नवंबर को दो चरणों में मतदान होगा.

बसपा गोंडवाना गणतंत्र पार्टी (जीजीपी) के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ रही है. सीट-बंटवारे समझौते के अनुसार, बसपा और गोंगपा क्रमशः 53 और 37 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी.

 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

एक महिला को भी जगह

बसपा की ओर से एक महिला समेत 17 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी की गई है. इसके साथ ही पार्टी अब तक 26 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है. इन 17 निर्वाचन क्षेत्रों में से नौ अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए और तीन अनुसूचित जाति (एससी) उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं.

 

ADVERTISEMENT

इन्हें मिला टिकट

सूची के अनुसार, नरेंद्र साहू (भटगांव सीट), इनोसेंट कुजूर (पत्थलगांव- एसटी), नारायण रत्नाकर (सारंगढ़ – एससी), सत्यवती राठिया (धरमजयगढ़-एसटी), जगतराम राठिया (रामपुर- एसटी), जयनारायण किशोर ( सरायपाली – एससी), सुफल साहू (खल्लारी), लालचंद पटेल (कुरुद), चैतराम राज (पंडरिया), बहादुर कुर्रे (डोंगरगढ़-एससी), जालम सिंह जुर्री (भानुप्रतापपुर-एसटी), दिनेश कुमार मरकाम (केशकाल-एसटी), गिरधर नेताम (कोंडागांव-एसटी), रामधर बघेल (बस्तर-एसटी), संपत कश्यप (जगदलपुर), अजय कुड़ियाम (बीजापुर-एसटी) और मसा मड़कामी (कोंटा) पार्टी की ओर से छत्तीसगढ़ चुनाव में ताल ठोकेंगे.

ADVERTISEMENT

 

पहली लिस्ट में 9 सीटों पर हुआ था ऐलान

बसपा ने चुनाव आयोग द्वारा चुनाव कार्यक्रम घोषित होने से कुछ हफ्ते पहले अगस्त में नौ उम्मीदवारों की अपनी पहली सूची जारी की थी. इसमें पार्टी ने विधायक केशव प्रसाद चंद्रा और इंदु बंजारे, जो क्रमशः जैजैपुर (सक्ती जिला) और अनुसूचित जाति-आरक्षित पामगढ़ (जांजगीर-चांपा जिला) सीटों का प्रतिनिधित्व करते हैं, उनको उनके संबंधित क्षेत्रों से मैदान में उतारा. अन्य उम्मीदवारों में दाऊराम रत्नाकर (मस्तूरी सीट अनुसूचित जाति के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित), ओमप्रकाश बचपेयी (नवागढ़-अनुसूचित जाति आरक्षित), राधेश्याम सूर्यवंशी (जांजगीर-चांपा), डॉ. विनोद शर्मा (अकलतरा), श्याम टंडन (बिलाईगढ़-अनुसूचित जाति आरक्षित), रामकुमार सूर्यवंशी (बेलतरा) और आनंद तिग्गा (सामरी-अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित) के नाम शामिल हैं.

 

साल 2018 में कैसा था पार्टी का प्रदर्शन?

2018 के चुनावों में बसपा को 4.27 प्रतिशत वोट मिले और उसने दो सीटें- जैजैपुर और पामगढ़- जीतीं. पार्टी तब जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) और सीपीआई के साथ गठबंधन में लड़ी थी. जबकि जेसीसी (जे) ने पांच सीटें हासिल की थीं, गोंगपा उम्मीदवारों ने पार्टी 38 सीटों में से 36 पर अपनी जमानत खो दी थी.

मायावती के नेतृत्व वाली पार्टी का मध्य छत्तीसगढ़ में अनुसूचित जाति की आबादी के बीच काफी प्रभाव है, जबकि गोंगपा का एक समय बिलासपुर और सरगुजा डिवीजनों के कुछ आदिवासी बहुल हिस्सों में समर्थन आधार था.

इसे भी पढ़ें- विधानसभा चुनाव के लिए BSP उम्मीदवारों की लिस्ट जारी, 9 सीटों पर नामों का ऐलान; जानें कहां से किसे मिला टिकट

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT