CG Elections: खरसिया से टिकट नहीं मिलने पर क्या बोले ओपी चौधरी? जानिए, इस बार चुनाव लड़ेंगे या नहीं…

नरेश शर्मा

ADVERTISEMENT

ChhattisgarhTak
social share
google news

Chhattisgarh Elections 2023: छत्तीसगढ़ में आगामी विधानसभा चुनावों (Chhattisgarh Vidhan Sabha Chunav 2023) के मद्देनजर बीजेपी (BJP Chhattisgarh) की ओर से 21 उम्मीदवारों की घोषणा के बाद राज्य में सियासी हलचल तेज है. एक तरफ जहां प्रत्याशी तय होने के बाद पार्टी नेता सक्रिय हो गए हैं, तो वहीं कई नेताओं को टिकट नहीं दिए जाने को लेकर भी सियासी गलियारों में तरह-तरह की चर्चाएं होने लगी हैं. प्रशासनिक अधिकारी से नेता बने भाजपा के प्रदेश महामंत्री ओपी चौधरी (OP Chaudhary) को खरसिया विधानसभा सीट (Kharsia Vidhan sabha Seat)  से टिकट नहीं मिलने को लेकर भी कई किस्म के सवाल उठ रहे हैं. पार्टी ने यहां से महेश साहू (Mahesh Sahu) को अपना उम्मीदवार बनाया है. ऐसी अटकलें भी लगाई जाने लगी हैं कि शायद चौधरी इस बार चुनावी मैदान में नहीं उतरेंगे. हालांकि इस पूरे मामले पर खुद ओपी चौधरी ने अपनी प्रतिक्रया दी है. उन्होंने पार्टी के फैसले को सर्वोपरि बताया है.

पहले यह कयास लगाए जा रहे थे कि कांग्रेस के कब्जे वाली खरसिया सीट से भाजपा एक बार फिर से ओपी चौधरी पर दांव खेलेगी, लेकिन पार्टी हाईकमान ने यहां से महेश साहू को प्रत्याशी बनाकर सबको चौंका दिया. वहीं अब यह कयास लगाए जा रहे हैं कि ओपी चौधरी को चुनावी मैदान से दूर रखकर पार्टी के प्रचार-प्रसार की बड़ी जिम्मेदारी दी जाएगी. इस पूरे मामले में ओपी चौधरी का कहना है कि पार्टी हाईकमान का निर्णय सर्वपरि है और महेश साहू का नाम पूरी सहमति के बाद तय हुआ है.

चुनाव लड़ेंगे या नहीं ?

चुनावी मैदान में उतरने के सवाल पर ओपी चौधरी ने कहा कि पार्टी हाईकमान उन्हें कहां की जिम्मेदारी देगा उन्हें खुद नही मालूम. अगर उन्हें कहीं से भी चुनाव लड़ाया जाएगा तो वे तैयार हैं.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

उन्होंने कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव में जीतने वाले चेहरों पर ही निर्णय लिये गए हैं और वे भी पार्टी के सिपाही हैं. दिशा-निर्देश के आधार पर ही पार्टी का काम होता है. भाजपा नेता ने कहा कि आने वाले विधानसभा चुनावों में भाजपा पूर्ण बहुमत से अपनी सरकार बनाएगी. इसे कोई रोक नही सकता.

‘अंदाजा लगाना गलत’

रायगढ़ भाजपा जिलाध्यक्ष उमेश अग्रवाल का दावा है कि पार्टी हाई कमान ने सभी की राय लेकर ही इन चेहरों पर अपनी सहमति दी है और ओपी चौधरी के बजाय महेश साहू को मैदान में उतारे जाने से यह अंदाजा लगाना गलत है कि ओपी चौधरी चुनाव नही लड़ रहे हैं. पार्टी हाईकमान इस पर निर्णय लेता है.

ADVERTISEMENT

रायगढ़ जिले की चारों सीटें जीतने का दावा

खरसिया और धरमजयगढ़ सीट से प्रत्याशी के नाम तय होने के बाद जिला भाजपा अध्यक्ष अग्रवाल ने दावा किया कि आने वाले विधानसभा चुनावों में रायगढ़ जिले की चारो विधानसभा सीटें भाजपा जीतेगी. जिन प्रत्याशियों को चुनावी मैदान में उतारा गया है वे जनता के बीच खरे उतरेंगे.

ADVERTISEMENT

बहरहाल खरसिया और धरमजयगढ़ सीट से विधानसभा चुनाव की तिथि घोषित होने से पहले प्रत्याशियों के नामों का ऐलान करना इस बात का संकेत देता है कि भाजपा इस बार कोई भी रिस्क नही लेना चाहती. पार्टी सत्तारूढ़ कांग्रेस को घेरने के लिए नई रणनीति के तहत चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए जुट गई है.

इसे भी पढ़ें- भाजपा ने किया 21 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान, यहां देखें लिस्ट

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT