छत्तीसगढ़ में कांग्रेस का रेल रोको आंदोलन: केंद्र पर भड़के बघेल; सरोज पांडेय ने सीएम पर लगाया ये आरोप

रघुनंदन पंडा

ADVERTISEMENT

ChhattisgarhTak
social share
google news

Congress’s Rail Roko Andolan in Chhattisgarh- छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनावों से पहले ट्रेनों के रद्द होने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. प्रदेश में ट्रेनों के लगातार रद्द होने के विरोध में कांग्रेस (Congress) ने 13 सितंबर को रेल रोको आंदोलन का ऐलान किया है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) ने इसके लिए केंद्र को जिम्मेदार ठहराते हुए रविवार को जमकर निशाना साधा. वहीं भाजपा (BJP) नेता और राज्यसभा सांसद सरोज पांडेय (Saroj Pandey) ने सीएम पर राजनीति करने का आरोप लगाया है.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दुर्ग में कोसरिया यादव समाज के कार्यक्रम के बाद मीडिया से चर्चा में केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जब देखो तब छत्तीसगढ़ में यात्री ट्रेनें बंद कर दी जा रही हैं, रेल से यहां सिर्फ कोयला ढुलाई का काम हो रहा है. यात्रियों को कोई सुविधा नहीं मिल रही हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि पैसेंजर ट्रेन में भी एक्सप्रेस का किराया ले रहे हैं. रेल के नाम पर नागरिक सुविधा शून्य और बद से बदतर होती जा रही है, इसलिए 13 तारीख को कांग्रेस पार्टी रेल आंदोलन करने जा रही है.

 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

क्या है कांग्रेस का आरोप?

कांग्रेस नेताओं का आरोप है कि मोदी सरकार देश की सबसे विश्वसनीय यात्री सेवा रेलवे सुविधा को समाप्त करने की साजिश रच रही है और जल्द इसे निजी हाथों में सौंपने का षड्यंत्र किया जा रहा है. कांग्रेस का कहना है कि छत्तीसगढ़ में बिना कोई कारण बताएं, बिना किसी ठोस वजह के यात्री ट्रेनों को अचानक रद्द कर दिया जाता है. रेलवे द्वारा यात्री ट्रेनों को महीना हफ्तों तक बंद करने का फरमान जारी कर दिया जाता है. ऐसे में महीना भर पहले यात्रा की योजना बनाकर रिजर्वेशन कराने वाले नागरिकों की परेशानी से रेलवे और केंद्र सरकार कोई मतलब नहीं रहता है. रेलवे यात्रियों के लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं करती है. देश की आजादी के बाद ऐसी स्थिति केवल मोदी सरकार में आई है.

सरोज पांडेय ने सीएम बघेल को घेरा

कांग्रेस के रेल आंदोलन को लेकर भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और राज्य सभा सांसद सरोज पांडेय ने कहा कि जब-जब चुनाव नजदीक आता है कांग्रेस इसी प्रकार के काम करती है. प्रधानमंत्री जो विकास पैकेज छत्तीसगढ़ को देते हैं उस पर कभी कांग्रेस उनका धन्यवाद नहीं करती. उन्होंने कहा,  “राजनीति करने के लिए बहुत फील्ड पड़ा है लेकिन विकास पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. छत्तीसगढ़ में रेल रोको आंदोलन की जहां तक बात है तो मुख्यमंत्री बहुत देर से सचेत हुए हैं. अगर मुख्यमंत्री ने इस आंदोलन के शुरूआत करने की बात कही है तो यह दुर्भाग्यजनक स्थिति है. छत्तीसगढ़ में जो समस्याएं हैं वह मुख्यमंत्री को पता है और उन्होंने चर्चा भी की है. वह अब इस पर राजनीति कर रहे हैं.”

ADVERTISEMENT

इसे भी पढ़ें- सीएम बघेल ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कहा- छत्तीसगढ़ में ट्रेनों के रद्द होने से यात्री परेशान; की ये मांग

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT