Kawardha Murder Case: साधराम हत्याकांड पर जमकर हंगामा, भिड़ गए भूपेश बघेल और विजय शर्मा

ChhattisgarhTak

ADVERTISEMENT

ChhattisgarhTak
social share
google news

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव से पहले साधराम यादव (Saddhram Yadav) हत्याकांड मामले को लेकर सियासत तेज हो गई है. विधानसभा चुनाव के दौरान जिस तरह से बिरनपुर मामले को लेकर बीजेपी ने बघेल सरकार को जमकर घेरा था. दिग्गज मंत्रियों की हार के साथ कांग्रेस को बिरनपुर का नुकसान भी उठाना पड़ा था. अब लोकसभा चुनाव में साधराम हत्याकांड का मुद्दा भी जमकर गूजने लगा है. यहीं वजह है कि कवर्धा में हुए साधराम हत्याकांड के मामले को लेकर अब कांग्रेस साय सरकार को घेरने चुनावी कवायद कर रही है. लोकसभा चुनाव से पहले छत्‍तीसगढ़ विधानसभा में चल रहे बजट सत्र में गुरुवार को कवर्धा के लालपुर में साधराम यादव हत्‍याकांड का मुद्दा गरमाया.

साधराम हत्याकांड की सीबीआई जांच हो- भूपेश

कांग्रेस विधायक देवेंद्र यादव (Devendra Yadav) ने साधराम यादव हत्याकांड का मामला उठाया. साधराम यादव मामले में विपक्ष ने सीबीआई जांच की मांग को लेकर सदन में जमकर हंगामा किया. विपक्ष के विधायकों की ओर से गर्भगृह में पहुंचकर नारेबाजी की गई. सदन में हंगामे और नारेबाजी के चलते विपक्ष के सभी विधायकों को निलंबित कर दिया गया. इसके बाद निलंबित कांग्रेसी विधायकों ने विधानसभा परिसर में गांधी प्रतिमा के पास जमकर प्रदर्शन किया.

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) ने कहा कि बिरनपुर मामले के साथ ही साधराम यादव की हत्याकांड की सीबीआई जांच होनी चाहिए. वहीं सीबीआई बैन को लेकर बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार ने ही बैन किया था, हमने तो सिर्फ नोटिफिकेशन जारी किया था.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

साधराम मामले में UAPA के तहत मामला दर्ज- विजय शर्मा

साधराम हत्याकांड को लेकर डिप्टी सीएम और गृहमंत्री विजय शर्मा (Vijay Sharma) ने कहा कि इस मामले में प्रमुख आरोपियों पर UAPA के तहत कार्रवाई की जा रही है. उन्होंने इस कदम को राज्य में अपनी तरह का पहला कदम बताया. उन्होंने कहा, यह घटना बिरनपुर सांप्रदायिक हिंसा से अलग है क्योंकि हत्या “हथियार’ से नहीं की गई थी, बल्कि यह ‘विचार’ के साथ की गई थी.”

उन्होंने कहा, मामले के आरोपियों के संबंध कश्मीर से हैं और जांच चल रही है. सीबीआई की जांच का अलग एंगल होता है, इसका एंगल क्या है आगे देखा जाएगा. यह बिरनपुर की घटना से पृथक घटना है. शर्मा ने बुधवार को घोषणा की थी कि पिछले साल राज्य के बेमेतरा जिले के बिरानपुर गांव में सांप्रदायिक हिंसा में भुनेश्वर साहू की हत्या की सीबीआई जांच की सिफारिश की जाएगी.

ADVERTISEMENT

आने वाले समय में हो सकता है बड़ा खुलासा!

बता दें कि 20 जनवरी को कवर्धा के लालपुर में साधराम की गला रेतकर हत्या हुई थी. इस मामले में पुलिस ने 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया था. साधराम हत्याकांड के मामले में कवर्धा पुलिस ने UAPA यानी गैर कानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम के तहत एक और मामला दर्ज किया गया है. सदन में हंगामा अपनी जगह लेकिन पुलिस का दावा है कि इस हत्याकांड़ का उद्देश्य दहशत फैलाना था, हत्या का पैटर्न भी ISIS जैसा ही था. ऐसे में अब साधराम की हत्या के मामले में गिरफ्तार आरोपियों पर आतंकवादी गतिविधियों में संलिप्तता जैसे सबूत हाथ लगने से पुलिस आने वाले समय में और भी बड़ा खुलासा कर सकती है.

ADVERTISEMENT

बिरनपुर मामले में सीबीआई जांच के ऐलान होने के बाद कांग्रेस ने सीबीआई जांच के नतीजों को लेकर आपत्ति जताई थी. ऐसे में ये सवाल भी उठ रहा है कि सीबीआई जांच को लेकर हमेशा कांग्रेस खुद आपत्ति करती रही है. वहीं साधराम हत्याकांड मामले पर अब कांग्रेस विधायकों की ओर से ही सीबीआई जांच की मांग करना हैरान करने वाला हैं.

रायपुर से अजय सोनी की रिपोर्ट

इसे भी पढ़े: Chhattisgarh News: अमित शाह का छत्तीसगढ़ के लिए मिशन-11, इन चार सीटों पर फोकस

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT