राहुल गांधी ने सदन में दिखाई शिव की तस्वीर, छत्तीसगढ़ में गरमाई राजनीति

ChhattisgarhTak

ADVERTISEMENT

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के लोकसभा में भगवान शिव की तस्वीर दिखाने को लेकर छत्तीसगढ़ में भी राजनीति गरमा गई है. देखें यह चर्चा

social share
google news

Rahul Gandhi's LS speech: कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के लोकसभा में भगवान शिव की तस्वीर दिखाने को लेकर छत्तीसगढ़ में भी राजनीति गरमा गई है. सदन में राहुल गांधी के भाषण को लेकर कई राजनेताओं की प्रतिक्रिया सामने आई.

पूर्व सीएम भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) ने एक्स पर पोस्ट किया कि आज तो सोमवार का दिन भी है. भगवान शंकर के दर्शन होने पर तो भाजपा वालों को हाथ जोड़ लेने चाहिए थे. लेकिन शंकर भगवान के चित्र पर भाजपा को आपत्ति हो गई. शंकर भगवान के चित्र को दिखाने पर कैमरा हटा देना और चित्र न दिखाने के लिए कहना सभी शिव भक्तों सहित हिन्दू समाज का अपमान है. भगवान भोलेनाथ इनको सद्बुद्धि दें.

वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णु देव साय (Vishnu Deo Sai) ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी को भारतीय परंपरा और हिंदू संस्कृति का कोई ज्ञान नहीं है और उन्हें लोकसभा में दिए गए अपने भाषण के लिए पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए.

ADVERTISEMENT

यह भी देखे...

ADVERTISEMENT

लोकसभा में विपक्ष के नेता के रूप में अपने पहले भाषण में, गांधी ने कहा कि जो लोग खुद को हिंदू कहते हैं, वे चौबीसों घंटे "हिंसा और नफरत" में लगे रहते हैं, जिसका सत्ता पक्ष के सदस्यों ने भारी विरोध किया, जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पूरे हिंदू समाज को हिंसक कहना एक गंभीर मामला है.

'एक्स' पर एक पोस्ट में, साय ने कहा, "राहुल गांधी के संसद में पूरे हिंदू समाज को हिंसक कहने वाला बयान बेहद आपत्तिजनक और निंदनीय है. उन्होंने देश के करोड़ों हिंदुओं का अपमान किया है. राहुल गांधी को भारतीय परंपरा और हिंदू संस्कृति का कोई ज्ञान नहीं है."

ADVERTISEMENT

सीएम ने कहा, "उनके बयान से पूरा देश आहत है. हिंदुओं के प्रति कांग्रेस की यह नफरत बंद होनी चाहिए. राहुल गांधी और कांग्रेस को इस बयान के लिए पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए."

 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT