Chhattisgrah Lok Sabha Election Result 2024: छत्तीसगढ़ की 11 सीटों में होगा खेला? यहां मिलेगी पल-पल की जानकारी

ChhattisgarhTak

ADVERTISEMENT

Chhattisgrah Lok Sabha Election Result 2024
Chhattisgrah Lok Sabha Election Result 2024
social share
google news

Chhattisgrah Lok Sabha Election Result 2024- छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा में किसको मिलेगी जीत? किसका ख्वाब रह जाएगा अधूरा, कुछ समय बाद पता चल जाएगा. सभी की निगाहें इस बात पर टिकी हैं कि सत्तारूढ़ भाजपा साल 2019 के चुनाव के अपने प्रदर्शन को बेहतर कर पाती है या कांग्रेस को धूल चटा पाती है या विपक्षी पार्टी अपने भगवा प्रतिद्वंद्वी को मात दे पाती है. छत्तीसगढ़ Tak पर आपको पल-पल की जानकारी मिलेगी.

भाजपा की ओर से प्रमुख उम्मीदवारों में राज्य के मंत्री बृजमोहन अग्रवाल और पार्टी नेता सरोज पांडे शामिल हैं. दूसरी ओर, कांग्रेस की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनकी पार्टी के सहयोगी कवासी लखमा प्रमुख दावेदार हैं.

भाजपा विधानसभा चुनावों में अपनी हालिया सफलता को दोहराने की उम्मीद कर रही है, जबकि कांग्रेस अपनी स्थिति में सुधार करना चाहती है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

 

कितने प्रतिशत हुआ था मतदान?

छत्तीसगढ़ में 11 लोकसभा क्षेत्रों में 72.8 प्रतिशत मतदान हुआ था. इन क्षेत्रों में 19 अप्रैल, 26 अप्रैल और 7 मई को तीन चरणों में मतदान हुआ था.

ADVERTISEMENT

बघेल, बृजमोहन और लखमा समेत इन उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर

ADVERTISEMENT

भाजपा के मौजूदा राज्य मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और तीन मौजूदा सांसदों समेत 220 प्रत्याशियों के राजनीतिक भाग्य का फैसला होगा.

 रायपुर में सबसे ज्यादा 38 उम्मीदवार मैदान में हैं, इसके बाद बिलासपुर में 37, कोरबा में 27, दुर्ग में 25, जांजगीर-चांपा में 18, महासमुंद में 17, राजनांदगांव में 15, रायगढ़ में 13, बस्तर में 11, सरगुजा में 10 और कांकेर में 9 उम्मीदवार मैदान में हैं। मुख्य मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के बीच है, जिसने 2004 से 2014 तक तीन आम चुनावों में कुल 11 में से 10 सीटें जीती थीं. 2019 के चुनावों में भाजपा ने नौ सीटें जीतीं, जबकि कांग्रेस ने दो सीटें जीतीं.

इन उम्मीदवारों पर है नजर

हाई-प्रोफाइल रायपुर सीट पर मुकाबला भाजपा के प्रभावशाली नेता और मौजूदा राज्य मंत्री बृजमोहन अग्रवाल और कांग्रेस के पूर्व विधायक विकास उपाध्याय के बीच है.

 दूसरी हाई-प्रोफाइल राजनांदगांव सीट पर मुकाबला भाजपा के मौजूदा सांसद संतोष पांडे और कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा विधायक भूपेश बघेल के बीच है.

कोरबा सीट पर भाजपा ने अपनी प्रभावशाली महिला नेता और पूर्व सांसद सरोज पांडे को कांग्रेस की मौजूदा सांसद ज्योत्सना महंत के खिलाफ उतारा है, जो मौजूदा नेता प्रतिपक्ष चरणदास महंत की पत्नी हैं.

 दुर्ग में कांग्रेस ने मौजूदा भाजपा सांसद विजय बघेल के खिलाफ राजेंद्र साहू के रूप में एक नया चेहरा चुना है.

बस्तर निर्वाचन क्षेत्र में मुकाबला कांग्रेस के तेजतर्रार नेता कवासी लखमा और भाजपा के नए चेहरे महेश कश्यप के बीच है.

बिलासपुर सीट पर कांग्रेस ने मौजूदा विधायक देवेंद्र यादव को मैदान में उतारा है, जबकि भाजपा ने पूर्व विधायक तोखन साहू को मैदान में उतारा है.

अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित एकमात्र जांजगीर-चांपा निर्वाचन क्षेत्र में पूर्व राज्य मंत्री शिवकुमार डहरिया कांग्रेस के उम्मीदवार हैं, और महिला नेता कमलेश जांगड़े भाजपा की उम्मीदवार हैं.

 सरगुजा में मुकाबला भाजपा के चिंतामणि महाराज, जो पिछले विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस से अलग हो गए थे, और कांग्रेस की शशि सिंह, जो एक नया चेहरा हैं, के बीच है.

आदिवासी बहुल रायगढ़ में भाजपा के राधेश्याम राठिया का मुकाबला कांग्रेस की डॉ. मेनका देवी सिंह से है, जो सारंगढ़ के तत्कालीन राजघराने से ताल्लुक रखती हैं.

 सत्तारूढ़ भाजपा ने महासमुंद और कांकेर सीटों पर अपने मौजूदा सांसदों को हटाकर क्रमशः रूपकुमारी चौधरी और भोजराज नाग को मैदान में उतारा है. चौधरी और नाग पूर्व विधायक हैं.

 विपक्षी कांग्रेस ने महासमुंद में राज्य के पूर्व गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू और कांकेर सीट पर अनुभवी नेता बीरेश ठाकुर को मैदान में उतारा है.

एग्जिट पोल का क्या है इशारा?

कई एग्जिट पोल में भाजपा को 10-11 सीटों पर जीत मिलने की भविष्यवाणी की गई है, जबकि कांग्रेस को 0 से 1 सीट मिल सकती है. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने विश्वास जताया है कि सत्तारूढ़ पार्टी सभी 11 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल करेगी, हालांकि भूपेश बघेल ने इस दावे को खारिज कर दिया.

 

चुनाव की पूरी तैयारी समझें

राज्य की मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) रीना बाबासाहेब कंगाले ने बताया कि डाक मतपत्रों की गिनती सुबह 8 बजे शुरू होगी और डाक मतपत्रों की गिनती के आधे घंटे बाद इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) से वोटों की गिनती की प्रक्रिया शुरू होगी.

कंगाले ने संवाददाताओं से कहा, "मतों की गिनती सुबह 8 बजे से 33 केंद्रों पर शुरू होगी. राज्य के 33 जिला मुख्यालयों में एक-एक केंद्र बनाया गया है. मतगणना की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं." उन्होंने बताया कि 94 हॉल में मतों की गिनती की जाएगी. इनमें 86 विधानसभा क्षेत्रों में एक-एक हॉल और चार विधानसभा क्षेत्रों में दो-दो हॉल होंगे.

सीईओ ने कहा, "मतगणना के लिए 11 रिटर्निंग अधिकारी, 476 सहायक रिटर्निंग अधिकारी, 4362 मतगणना कर्मी और 1671 माइक्रो-ऑब्जर्वर नियुक्त किए गए हैं. इसके अलावा, 11 लोकसभा सीटों के लिए 42 मतगणना पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए हैं.

कहां कितने राउंड में होगी काउंटिंग?

चुनाव अधिकारी ने कहा कि 84 विधानसभा क्षेत्रों में 14 टेबलों पर और शेष छह क्षेत्रों में 21 टेबलों पर मतगणना होगी. सीईओ के अनुसार, "जशपुर विधानसभा क्षेत्र (रायगढ़ लोकसभा सीट) के साथ-साथ बिल्हा और मस्तूरी विधानसभा क्षेत्रों (बिलासपुर लोकसभा सीट) में अधिकतम 24 राउंड में मतगणना होने की उम्मीद है.

वहीं, मनेंद्रगढ़ विधानसभा सीट (कोरबा लोकसभा सीट) में सबसे कम राउंड की गिनती की आवश्यकता है, जिसमें केवल 12 राउंड की गिनती होगी."

सुरक्षा की क्या है तैयारी?

मतगणना केंद्रों पर तीन-स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था में, पहली परत का प्रबंधन जिला पुलिस बल, दूसरी राज्य सशस्त्र बल और तीसरी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) द्वारा किया जा रहा है.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT